28.1 C
New Delhi
September 21, 2021
देश राज्य विवाद

महिलाओं की सुरक्षा के लिए डायन-बिसाही प्रथा के उन्मूलन पर काम करने का निर्देश जारी

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राज्य की महिलाओं की सुरक्षा के लिए डायन-बिसाही प्रथा के उन्मूलन पर काम करने का निर्देश जारी किया है। मुख्यमंत्री कल महिला बाल विकास एवं सामाजिक सुरक्षा विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जिस क्षेत्र में डायन बिसाही से संबंधित ज्यादा घटनाएं हुई हैं वहां व्यापक स्तर पर जागरूकता अभियान चलाया जाना चाहिए। डायन प्रथा उन्मूलन के लिए सेमिनार तथा अन्य माध्यमों से लोगों को जागरूक करने की जरूरत है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य को हर हाल में कुपोषण मुक्त बनाया जाएगा। सूबे के आंगनबाड़ी केंद्रों में बच्चों के लिए
गुणवतापूर्ण पौष्टिक आहार उपलब्ध होगा। बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए संचालित सभी योजनाओं को प्रतिबद्धता के साथ लागू किया जाएगा। आंगनबाड़ी केंद्रों में पूरक पोषाहार कार्यक्रम के तहत बच्चों को अंडा खिलाने का भी निर्देश दिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बच्चे राज्य और देश का भविष्य होते हैं। बच्चों को कुपोषण से बचाना राज्य सरकार की प्राथमिकता होती है। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री मातृवंदना योजना का लाभ आम महिलाओं को भी उपलब्ध कराने का लक्ष्य विभाग के अधिकारियों को दिया। इस योजना का प्रचार प्रसार रेडियो टीवी व अखबारों के माध्यमों से करने का निर्देश दिया गया।

Related posts

गम्हरिया प्रखंड और अंचल कार्यालय में विभागीय लापरवाही के कारण लोगों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा

आजाद ख़बर

मझगाँव थाना में परिवार परामर्श केंद्र की बैठक: झारखंड

आजाद ख़बर

समाज के प्रति नकुल बेसरा का योगदान को भूलाया नहीं जा सकता: श्यामल मार्डी

आजाद ख़बर

Leave a Comment

आजाद ख़बर
हर ख़बर आप तक