38.1 C
New Delhi
May 21, 2022
अभी-अभी देश शिक्षा

बीपीएससी 67वीं प्रीलिम्स का पेपर कथित तौर पर परीक्षा से पहले लीक

BPSC 67th Prelims Exam: कहा जा रहा है कि परीक्षा शुरू होने से ठीक पहले पेपर लीक हो गया है। यहां आपको इसके बारे में जानने की जरूरत है।
बीपीएससी 67वीं प्रारंभिक परीक्षा का पेपर लीक: बिहार लोक सेवा आयोग ने 8 मई 2022 को बीपीएससी 67वीं संयुक्त प्रारंभिक परीक्षा आयोजित की थी। ऐसा आरोप लगाया जा रहा है कि बीपीएससी 67वीं संयुक्त प्रारंभिक परीक्षा का पेपर परीक्षा से पहले लीक हो गया गया। रिपोर्टों से पता चलता है कि परीक्षा से कुछ मिनट पहले प्रश्न पत्र टेलीग्राम ग्रुप्स पर वायरल हो गए।
वायरल प्रश्न पत्र आज वितरित किए गए वास्तविक प्रश्न पत्र से मेल खा रहे हैं। इससे पहले आज आरा के वीर कुंवर सिंह कॉलेज परीक्षा केंद्र पर पेपर लीक के आरोप में सैकड़ों परीक्षार्थियों ने हंगामा किया। परीक्षार्थियों ने आरोप लगाया कि बीपीएससी 67वीं प्रारंभिक परीक्षा में कुछ उम्मीदवारों ने अपने साथ मोबाइल रखा था।
कहा जा रहा है कि राष्ट्रीय छात्र एकता मंच के अध्यक्ष दिलीप कुमार ने परीक्षा शुरू होने से करीब 10 मिनट पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को एक ईमेल भेजा था और वायरल प्रश्न पत्र की कॉपी देकर परीक्षा रद्द करने की मांग की।

ट्विटर पर एक वेरीफाइड यूजर ने भी खबर का खंडन किया है।

बीपीएससी पेपर लीक : आयोग की प्रतिक्रिया

इस मामले में बीपीएससी के अधिकारियों ने फिलहाल कुछ भी कहने से इनकार किया है। आयोग के अधिकारियों ने कहा है कि इस संबंध में शाम को बैठक के बाद फैसला लिया जाएगा। घटना की सूचना मिलते ही भोजपुर के डीएम रोशन कुशवाहा केंद्र पहुंचे। उन्होंने बताया कि सभी प्रश्नपत्रों को सील कर दिया गया है। प्रश्न पत्र केंद्र से बाहर निकलने की पुष्टि नहीं हुई है। डीएम ने कहा कि परीक्षार्थियों से लिखित शिकायत मांगी गई है। जैसा कि ऊपर उल्लेख किया गया है, बिहार लोक सेवा आयोग को अंतिम निर्णय की घोषणा करना बाकी है।
परीक्षा में बैठने वाले उम्मीदवारों को परीक्षा शुरू होने से 1 घंटे पहले परीक्षा केंद्र पर पहुंचना था। उन्हें सख्ती से कहा गया था कि अगर कोई परीक्षा शुरू होने के बाद परीक्षा केंद्र पर पहुंचता है तो उसे परीक्षा हॉल में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। दिशानिर्देशों में कहा गया है कि परीक्षा देने वाले उम्मीदवारों को परीक्षा हॉल में मोबाइल, ब्लूटूथ, वाईफाई गैजेट, इलेक्ट्रॉनिक पेन, पेजर, स्मार्टवॉच या कोई इलेक्ट्रॉनिक सामान ले जाने की अनुमति नहीं थी।
ऐसे में 105 सेफ स्कोर करने वाले परीक्षार्थियों को अब निराशा का सामना करना पड़ सकता है।

Related posts

अस्पताल से भागने के क्रम मे कोरोना संगदिध की मौत

आजाद ख़बर

जमीनी स्‍तर पर प्रभावी पुलिस व्‍यवस्‍था के लिए उच्‍चस्‍तरीय पुलिस प्रौद्योगिकी मिशन का आह्वान

Zamir Azad

स्वर्ग सिधार गए मगर मनरेगा की मजदूरी नहीं मिली

आजाद ख़बर

Leave a Comment

आजाद ख़बर
हर ख़बर आप तक