झारखंड:परेशान लाभुक लॉकडाउन की स्थिति में भूखे मरने के लिए विवश हो रहे

झारखंड:परेशान लाभुक लॉकडाउन की स्थिति में भूखे मरने के लिए विवश हो रहे

मझगाँव: पड़सा पँचायत के हड़ुवाखकमन गांव के कुम्बाडीह टोला के लगभग 10 वृद्धों को पेंशन योजना का लाभ इस उम्र में भी वंचित होना पड़ रहा है । राज्य सरकार द्वारा राज्य वृद्धा पेंशन चलाई जा रही थी। राज्य पेंशन योजना बंद होने से पूर्व सरकार ने सभी पेंशनधारियों का सत्यापन पर अर्हता के मुताबिक राष्ट्रीय वृद्धापेंशन योजना व विधवा पेंशन योजना समायोजित करने का निदेश दिया था। इस निदेश के आलोक में वैसे लाभुकों को भी अलग किया जाना था, जिनकी आयु 80 वर्ष या उससे अधिक हो गई है। सरकार द्वारा शिविर लगाकर इस कार्य को पूरा करने के लिए लगातार दिए जा रहे आदेश के बावजूद पंचायत सचिवों व वार्ड कर्मचारियों की स्वेच्छाचारिता के कारण यह कार्य अबतक पूरा नहीं हो सका जिसके कारण पेंशन के लिए दौड़कर परेशान लाभुक लॉकडाउन की स्थिति में भूखे मरने के लिए विवश हो रहे हैं।

——–

क्या कहते हैं लाभुक

पड़सा पँचायत के हड़ुवाकमन के कुम्बाडीह टोला के सुखलाल चातार,गोरवारी चातार,रामदास चातार,जोंगा चातार,सोमवारी चातार,सुनिका चातार,मिरजु चातार,सनातन चातार,टुरी चातार और मानी चातार ने संयुक्त रुप से कहा कि उम्र के इस पढ़ाव में वृद्धा पेंशन जैसी लाभकारी योजना से हमें वंचित रहना पड़ रहा है बड़ी अफसोस की बात है । लॉक डाउन में घर के सदस्य घर में बैठे हैं । यदि पेंशन योजना हमें मिलता तो कुछ सहयोग परिवार वालों को कर पाते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Founder, Zamir Azad (Holy Faith English Medium School).

Maintained & Developed by TRILOKSINGH.ORG