14.1 C
New Delhi
December 3, 2021
क्षेत्रीय न्यूज़

पोटका प्रखंड के साहित्यकार,शिक्षा प्रेमी,शिक्षा विद एवं शिक्षकों के बीच बैठक

अभिजीत सेन (संवादाता पोटका)

पोटका प्रखंड अंतर्गत हाता स्थित प्राचीन गुरुकुल आश्रम में झारखंड बंग भाषी समिति के गठन को लेकर पोटका प्रखंड के साहित्यकार,शिक्षा प्रेमी,शिक्षा विद,शिछक के बीच एक बैठक हुई जिसकी अध्यक्षता अश्विनी मंडल ने की। बैठक में उपस्थित बुद्धिजीवी ओ ने झारखंड के बिद्यालय में बंगला भाषा की पढ़ाई बंद हो जाने को बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण बताया और गभीर चिंता जताई।जब बिहार था तब प्राथमिक, माध्यमिक तथा उच्च माध्यमिक बिद्यालय में बंगला भाषा में पढ़ाई होती थी और बांग्ला मीडियम स्कूल भी हुआ करता था लेकिन 2000 अर्थात झारखंड बनने के बाद झारखंड में बंगला भाषा का वध हो गया। सभी बंगला भाषा के विद्यालय धीरे धीरे हिंदी भाषा बिद्यालय में परिबर्तित हो गया जो बहुत ही दुःख की बात है।झारखंड राज्य में 42%बंगला भाषी के लोग है जिसकी मातृभाषा बंगला है लेकिन क्या मजाक है बंगला भाषा भाषी लोगों के बच्चे आज बंगला नहीं जानते हैं।

इस शीलसिले में झारखंड में फिर से बिद्यालय में बंगला भाषा में पढ़ाई शुरू हो इसकी आवाज़ सरकार तक पहुचाने के लिए पोटका में झारखंड बंगभाषी समिति नामक एक अस्थायी कमेटी का गठन किया गया जिसमें शिक्षा विद रघुनंदन बनर्जी को संरक्षक तथा शिक्षा विद अश्विनी मंडल को संयोजक चुना गया।इसके अलावे साहित्यकार सह समाजसेवी सुनील कुमार दे,साहित्यकार सह शिक्षा विद शंकर चंद्र गोप, शिक्षा विद सह समाजसेवी निखिल मंडल,शिक्षाविद सनत कुमार मंडल,शिक्षा प्रेमी आनंद दास, शिक्षा विद मोहितोष मंडल,शिक्षा विद सुबोध मंडल,शिक्षा प्रेमी सुधीर गोप,आदि को सदश्य के रूप में चुना गया।यह अस्थायी समिति आगामी 9 फरवरी को अपने मांग लेकर संमन्धित पदाधिकारी के पास जाएंगे और ज्ञापन देंगे।इसके अलावे बंगवासी लोगों को भी अपनी मातृभाषा बंगला को रच्छा करने के लिये प्रेरित करने का कोशिश भी करेंगे।

 

“व्यक्त किए गए और लिखे गए विचार अथवा खबर पत्रकार के स्वयं के हैं। आजाद खबर द्वारा हूबहू खबर को छापी गई है।”

Related posts

विजन सरदार के घर अनियंत्रित होकर टेलर घुसा बाल बाल बचे घर के लोग

सातनाला में हुई ग्राम सभा की बैठक: चाण्डिल

आजाद ख़बर

खुँचीडीह में मिला युवक का शव

Leave a Comment

आजाद ख़बर
हर ख़बर आप तक