28.1 C
New Delhi
September 21, 2021
राज्य शिक्षा

झारखंड एकेडमिक काउंसिल ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए मैट्रिक और इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या लगभग दोगुनी की

झारखंड एकेडमिक काउंसिल ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए मैट्रिक और इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या लगभग दोगुनी कर दी है। मैट्रिक बोर्ड के लिए एक हजार चार सौ और इंटरमीडिएट के लिए सात सौ परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। पिछले वर्ष की तुलना में परीक्षा केंद्रों की संख्या लगभग चार सौ बढ़ा दी गई है। जिन विद्यालयों और महाविद्यालयों में पहली बार परीक्षा केंद्र बनाया गया है, वहां के वीक्षकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा, ताकि सुचारू तरीके से परीक्षा का संचालन हो सके। इसके अलावा कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत मैट्रिक और इंटरमीडिएट की प्रायोगिक परीक्षा छह अप्रैल से जारी है। सत्ताईस अप्रैल तक चलने वाली प्रायोगिक परीक्षा दो पालियों में हो रही है। एक पाली में अधिकतम पंद्रह विद्यार्थियों को प्रायोगिक परीक्षा में शामिल किया जा रहा है। इधर, चार मई से शुरू होने वाली परीक्षा की तैयारियों को लेकर दक्षिणी छोटानागपुर के क्षेत्रीय उप शिक्षा निदेशक सभी जिला शिक्षा पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे।

Related posts

प्रोटोकॉल के खिलाफ BDO ने किया कार्य,साँसद को सूचना नहीं

आजाद ख़बर

दूषित पानी पीने को मजबूर पोखरियासाई के ग्रामीण: झारखंड

आजाद ख़बर

क्या सिर्फ सांत्वना से मजदूरों की मजबूरी दूर कर पाएगी सरकार!

आजाद ख़बर

Leave a Comment

आजाद ख़बर
हर ख़बर आप तक