विधायकों को सुरक्षा देने का काम कार्यपालिका का : राज्यपाल

विधायकों को सुरक्षा देने का काम कार्यपालिका का : राज्यपाल

भोपाल, 18 मार्च । मध्यप्रदेश से कथित तौर पर लापता हुए 16 विधायकों की सुरक्षा को लेकर विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति की ओर से लिखे गए पत्र का राज्यपाल लालजी टंडन ने जवाब दिया है और कहा है कि विधायकों और आम नागरिकों को सुरक्षा देने का काम कार्यपालिका का है। यह पत्र त्रुटिवश उन्हें भेजा गया होगा, ऐसी आशंका भी राज्यपाल ने जताई है।

विधानसभा अध्यक्ष प्रजापति ने मंगलवार की रात को राज्यपाल को एक पत्र लिखकर विधायकों के लापता होने और उनकी सुरक्षा को लेकर पत्र लिखा था, इस पत्र का देर रात लगभग तीन बजे राज्यपाल की ओर से जवाब दिया गया है।

राज्यपाल की ओर से विधानसभा अध्यक्ष को लिखे गए पत्र में कहा गया है कि बीते 8-10 दिन से आप जिस पीड़ा से गुजर रहे होंगे, उसका भी मुझे अंदाजा हो रहा है। यद्यपि इन दिनों में इस संबंध में सदस्यों की जानकारी प्राप्त करने बावत आपके द्वारा किए गए प्रयासों का उल्लेख पत्र में नहीं है। फिर भी मैं मानता हूं कि निश्चित रूप से आप ने समुचित प्रयास किए होंगे।

विधानसभा अध्यक्ष द्वारा इस्तीफा दिए गए 22 विधायकों से छह सदस्यों के त्यागपत्र स्वीकार करने का जिक्र करते हुए उन्होंने लिखा है कि, छह सदस्यों के त्यागपत्र स्वीकार किए जाने के निष्पक्ष, साहस पूर्ण और शीघ्र किए गए निराकरण की भी मैं प्रशंसा करता हूं। आप अध्यक्ष के नाते भली-भांति अवगत होंगे कि किस सदस्य के इस्तीफे को स्वीकार करने की प्रक्रिया अथवा विधान सभा की बैठक आहूत होने के उपरांत बिना सूचना के अनुपस्थित होने पर किस विधि प्रक्रिया का पालन कर क्या कार्यवाही की जानी चाहिए, हालांकि विधायकों के त्यागपत्र के आवेदन के निराकरण में आपको हो रहे असमंजस का भी मुझे आभास है।

विधायकों द्वारा भेजे गए त्यागपत्र और विधानसभा अध्यक्ष द्वारा विधायकों के लापता होने के जिक्र पर राज्यपाल ने लिखा है, तथाकथित लापता विधायकों से आपको और मुझे लगातार पत्र प्राप्त हो रहे हैं, उन्हें अपने किसी भी पत्र में जहां पर भी वे वर्तमान में हैं, अपनी ओर से कोई समस्या व्यक्त नहीं की है। उनके पत्र व वीडियो लगातार समाचार पत्रों, इलेक्ट्रनिक और सोशल मीडिया में आ रहे हैं और अब वे सर्वोच्च न्यायालय पहुंच गए हैं।

इसके साथ ही राज्यपाल ने लिखा है, विधायकों की सुरक्षा और नागरिकों की सुरक्षा का दायित्व कार्यपालिका का है और आप उससे ही सुरक्षा चाहते होंगे किंतु त्रुटिवश यह पत्र मुझे प्रेषित हुआ प्रतीत होता है।

ज्ञात हो कि, मंगलवार की देर शाम को विधानसभाध्यक्ष प्रजापति ने राज्यपाल टंडन को पत्र लिखा था। जिसमें कहा था, एक गंभीर विषय की तरफ आपका ध्यान आकर्षित कराना चाहता हूं, राज्य की विधानसभा के 16 सदस्यों के त्यागपत्र अन्य माध्यम से प्राप्त हुए हैं। यह त्यागपत्र विचाराधीन है। इस्तीफा देने वाले 16 विधायक 16 मार्च को विधानसभा की बैठक में भी अनुपस्थित रहे। उक्त सदस्यों में से कुछ के परिजनों द्वारा उनकी सुरक्षा के संबंध में चिंता भी व्यक्त की गई है। विधानसभा का पीठासीन प्रमुख होने के नाते मैं अपने इन सदस्यों के लापता होने को लेकर बेहद चिंतित हूं।

–आईएएनएस।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Founder, Zamir Azad (Holy Faith English Medium School).

Maintained & Developed by TRILOKSINGH.ORG