27.1 C
New Delhi
September 22, 2021
क्षेत्रीय न्यूज़

एलकेजी से लेकर वर्ग नौ तक के विद्यालय को बंद कर दिया गया है मगर 3 साल से 6 साल के बच्चों के लिए आंगनवाड़ी खोले जाने से सेविकाओं में संशय की स्थिति बनी

अभिजीत सेन (संवादाता पोटका)

कोरोना के बढ़ते खतरे के मद्देनजर आंगनबाड़ी सेविकाओं में केंद्र संचालन को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है आंगनबाड़ी सेविकाओं का कहना है कि सरकार के निर्देश के अनुसार 8 से 10 बच्चों को बैठाकर केंद्र संचालित किया जा रहा है वही आंगनबाड़ी में सभी बच्चों को तैयार किया गया खिचड़ी भी दी जा रही है मगर छोटे-छोटे बच्चों के अभिभावक कई तरह की बातें हमें सुना रहे हैं कि एलकेजी से लेकर वर्ग नौ तक के विद्यालय को बंद कर दिया गया है मगर 3 साल से 6 साल के बच्चों के लिए आंगनवाड़ी खोले जाने से सेविकाओं में संशय की स्थिति बनी हुई है सेविकाओं का कहना है कि करुणा जैसी खतरनाक बीमारियों को देखते हुए इतने छोटे-छोटे बच्चों को लेकर केंद्र में बैठने में डर लग रहा है सरकार से आग्रह है कि आंगनवाड़ी केंद्रों को भी कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए बंद किया जाना चाहिए ताकि इन छोटे-छोटे बच्चों की सुरक्षा हो सके वही संबंध में बाल विकास परियोजना पदाधिकारी शैल वाला कुमारी से फोन से बात की गई तो उनका कहना है कि सरकार की ओर से जब तक किसी तरह का निर्देश नहीं आ जाता तब तक आंगनबाड़ी केंद्रों में 8 से 10 बच्चों को बैठाकर केंद्र का संचालन किया जाना है.

“व्यक्त किए गए और लिखे गए विचार अथवा खबर पत्रकार के स्वयं के हैं। आजाद खबर द्वारा हूबहू खबर को छापी गई है।”

Related posts

जिंदगी और मौत के बीच जी रही है सात माह की शिशु: झारखंड

आजाद ख़बर

चांडिल बाजार समिति के अध्यक्ष सह झामुमो केंद्रीय सदस्य पप्पू वर्मा के प्रयास से जल्द मिलेगी चांडिल वासियों को नाली के गंदे पानी से राहत

आजाद ख़बर

मां सरस्वती इंग्लिश स्कूल की छात्रा अज्ञात 407 वाहन की चपेट में आने से गंभीर रूप से घायल: पोटका

आजाद ख़बर

Leave a Comment

आजाद ख़बर
हर ख़बर आप तक