23.5 C
New Delhi
October 7, 2022
विदेश स्‍वास्‍थ्‍य

सिंगापुर में लॉकडाउन 1 जून तक बढ़ाया गया

सिंगापुर के प्रधान मंत्री ली ह्सियन लूंग ने मंगलवार को घोषणा की के कोरोनवायरस के प्रसार को रोकने के लिए शहर-राज्य में लगाए गए आंशिक लॉकडाउन को 1 जून तक बढ़ा दिया गया है।

 सिंगापुर में कोरोना वायरस का संक्रमण फैलते ही वहां की सरकार हरकत में आ गई थी. सरकार ने तुरंत स्कूलों और काम करने की दूसरी जगहों को बंद करवा दिया. इसकी वजह से सिंगापुर में वायरस के संक्रमण ने उतना भयावह रूप नहीं दिखाया. 2 हफ्ते पहले लगा लॉकडाउन 4 मई को खत्म होने वाला था. लेकिन उसे अब 1 जून तक के लिए बढ़ा दिया गया है.

 प्रधानमंत्री ने कहा कि अनलिंक किए गए मामलों की संख्या में कमी नहीं आई है, जो समुदाय में मामलों के “छिपे हुए भंडार” का सुझाव देता है।

ली ने कहा “हम यह भी सुनिश्चित करना चाहते हैं कि यदि कोई रिसाव डॉर्मों से व्यापक समुदाय तक होता है, तो हम इसका पता लगा सकते हैं और इसे जल्दी शामिल कर सकते हैं, और नए समूहों को नियंत्रण से बाहर बनाने और फटने से रोक सकते हैं।”

उन्होंने सभी सिंगापुरवासियों से जहां तक ​​संभव हो सके घर पर रहने का आह्वान किया, और उनसे आग्रह किया कि उन्हें अकेले या समूह के रूप में ऐसा करने के लिए बाहर जाना चाहिए।

 ली ने आखिरी बार 3 अप्रैल को राष्ट्र को संबोधित किया था, जिसमें चार दिन बाद किए गए लॉकडाउन के उपायों की घोषणा की गई थी, जिससे लोगों को वायरस फैलाने के प्रयास में एक दूसरे से अपनी दूरी बनाए रखने के लिए मजबूर होना पड़ा।

मंगलवार तक, सिंगापुर में 8,014 मामले थे, 11 मौतों के साथ दक्षिण पूर्व एशिया में सबसे अधिक।

दक्षिण चीन मॉर्निंग पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार, शहर के राज्य में रहने वाले प्रवासी कामगारों के बीच संक्रमण में भारी उछाल आया है, जो कोरोनोवायरस से निपटने के लिए शहर की सबसे बड़ी चुनौती बन गया है।

 इन श्रमिकों के बीच सोमवार के मुकाबले सिंगापुर के 76 प्रतिशत मामलों में संक्रमण हुआ।

Related posts

21वीं भारत रूस वार्षिक शिखर बैठक के लिए कल दिल्ली आएंगे रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन

उड्डयन मंत्रालय: भारत ने श्रीलंका के साथ एयर बबल व्यवस्था के लिए  किया समझौता

झारखंड: निजी प्रयोगशालाओं में रैपिड एंटीजन किट से जांच कराने पर अधिकतम राशि पांच सौ पचास रुपए निर्धारित

आजाद ख़बर

Leave a Comment

आजाद ख़बर
हर ख़बर आप तक