39.1 C
New Delhi
May 18, 2022
देश विदेश स्‍वास्‍थ्‍य

आज मनाया गया विश्व तपेदिक दिवस

न्यूज़ डेस्क दिल्ली

आज विश्व क्षय रोग दिवस है। तपेदिक, टीबी के विनाशकारी स्वास्थ्य, सामाजिक और आर्थिक परिणामों के बारे में सार्वजनिक जागरूकता बढ़ाने और वैश्विक महामारी को समाप्त करने के प्रयासों को बढ़ाने के लिए हर साल 24 मार्च को दिन मनाया जाता है। 1882 में डॉ रॉबर्ट कोच की टीबी बैक्टीरिया की खोज की सालगिरह मनाया जाता है।

टीबी दुनिया के सबसे घातक संक्रामक हत्यारों में से एक है। हर दिन, लगभग 4000 लोग टीबी से अपनी जान गंवाते हैं और 28,000 के करीब लोग बीमार पड़ जाते हैं। टीबी से निपटने के वैश्विक प्रयासों ने वर्ष 2000 के बाद से अनुमानित 63 मिलियन लोगों की जान बचाई है। विश्व टीबी दिवस 2021 का विषय – ‘द क्लॉक इज टिकिंग’ – इस अर्थ को पूरा करता है कि दुनिया खत्म होने के लिए प्रतिबद्धताओं पर कार्य करने के लिए समय से बाहर चल रही है। वैश्विक नेताओं द्वारा बनाई गई टी.बी. यह COVID-19 महामारी के संदर्भ में विशेष रूप से महत्वपूर्ण है जिसने एंड टीबी प्रगति को जोखिम में डाल दिया है, और यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज प्राप्त करने की दिशा में डब्ल्यूएचओ की ड्राइव के अनुरूप रोकथाम और देखभाल के लिए समान पहुंच सुनिश्चित करना है।

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने अपने संदेश में कहा है कि भारत सरकार संयुक्त राष्ट्र सतत विकास लक्ष्यों के अनुसार सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा, यह आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तत्वावधान में लागू किया जा रहा है, जो दुनिया में सबसे बड़ी राष्ट्रीय बीमा योजना है।

राष्ट्रपति ने कहा, इस अवसर पर, हमें ‘सभी के लिए स्वास्थ्य’ प्राप्त करने के अपने प्रयासों को फिर से बढ़ाना चाहिए, और आने वाली पीढ़ियों के लिए एक उज्जवल और स्वस्थ भविष्य बनाना चाहिए।

Related posts

अब तक की 10 बड़ी हैडलाइन

कोरोना का असर, अब तक 80 ट्रेनें हुई रद्द

Azad Khabar

2020 में अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन में 60-80% की गिरावट हो सकती है: यूएन

आजाद ख़बर

Leave a Comment

आजाद ख़बर
हर ख़बर आप तक